ebook लिखने के फायदे।

वैसे  तो ebook लिखने के बहुत सरे फायदे होते हैं लेकिन यंहा पर कुछ बेसिक फायदों के बारे में हम जानेंगे क्योंकि बहुत से।

लेखक होते हैं या जो लेखक नहीं भी होते हैं और उन्हें लिखने का सौक रहता है उनके लिए ये जानना बहुत ही आवश्यक है की। .

ebook लिखने के क्या फायदे होते है। जिन लोगो को पाता है उनके लिए ये आर्टिकल नहीं है

पहला फायदा > इसे  पब्लिश करने के लिए किसी पब्लिशर कंपनी की आवश्यकता नहीं होती है।

दूसरा फायदा > इसे  प्रिंट करने के लिए किसी पेपर की आवश्यकता होती हैं।

तीसरा फायदा > इसे आप अपने कंप्यूटर पर लिख सकते हो।

चौथा फायदा > यह डिजिटल फॉर्मेट में होने की वजह से जब कोई खरीदता है तो यह खत्म नहीं होता है क्योंकि यह डाउनलोड होने पर कॉपी पेस्ट होने लगता है। जिससे यह ख़त्म ही नहीं होता है लेकिन पेपर में होने पर बुक की कॉपी ख़त्म हो जाती है।

ebook को कैसे लिखते हैं ?और लिख कर पैसे कैसे कमाये ?

ebook  जिसे हम डिजिटल बुक के नाम से भी जानते हैं और इसे लिखना भी काफी आसान हैं।  यदि आपके पास कंप्यूटर

लैपटॉप हैं तो आपके लिए बुक लिखना आसान हो जाता है लेकिन अगर आप मोबाइल से लिखने का कोशिश करते हो तो यह मोबाइल से भी लिखा जा सकता है लेकिन यह थोड़ा सा कठिन हो जाता है कंप्यूटर की तुलना में। क्योकि कंप्यूटर में आप इसे ms word  या note pad

पर इसे लिख सकते हो। हिंदी में बुक लिखना कठिन होता है। जिन लोगो को हिंदी टाइपिंग नहीं आता है उनके लिए भी एक बहुत  ही

आसान सा उपाय है। उसके लिए मै  ये राय  दूंगा की आप अपने ब्लॉग पार लिखिए (गूगल द्वारा दिया जाने वाला फ्री ब्लॉग स्पॉट )कयोंकि वंहा हिंदी का ऑप्शन दिया हुआ  रहता है जिससे  आप आसानी से हिंदी टाइप कर सकते हो जिस तरह से अंग्रेजी के शब्द को टाइप करते हैं उसी तरह से हिंदी भी टाइप की जा सकता है।  लेकिन यदि आपको ms word पर हिंदी टाइप करना है तो उसके लिए तो हिंदी टाइपिंग आना चाहिए। हिंदी को टाइप करने का और एक तरीका है और वो है गूगल डॉक्।  गूगल डॉक् पर हिंदी को टाइप कर या मुँह से बोल कर

लिख सकते हो इस तरह से आप ebook को तैयार कर सकते हो और इसे अमेज़न kdp पर पब्लिश कर सकते हो। और उससे पैसे

कमाया जा सकता है। अमेज़न kdp के अलावा भी कुछ वेबसाइट है जो आपको फ्री में बुक पब्लिश करने का अवसर प्रदान करती है।

इसके बारे में नेक्स्ट आर्टिकल में लिखूंगा। हमें कमेंट सेक्शन में लिख कर बताएं की आप किस तरह के आर्टिकल चाहते हैं। और

हमारे ब्लॉग कर आर्टिकल पढ़ने से आपकी मदद  हो रही है तो। दूसरे लोगो को भी शेयर कीजिये।

Amazon kdp क्या होता है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं ?

अमेज़न kdp  अमेज़न का एक प्रोडक्ट है।  kdp का अर्थ होता है किंडल डायरेक्ट पब्लिशिंग।  आप जब अमेज़न के बुक स्टोर सेक्शन पर

जाते हो  तो ढेर सारी  किताबे दिखाई  देती हैं और उनमे से किसी एक बुक को सेलेक्ट करते हो तो उस बुक की पूरी डिटेल लिखा होता

है जिससे हमें आसान होता है  बुक को सेलेक्ट करने में जब हम किसी बुक को खरीदते है तो वंहा पर दो ऑप्शन दिया हुआ रहता है

फिजिकल बुक और डिजिटल बुक।  जब आप फिजिकल बुक को सेलेक्ट करते हो तो और उसको खरीदते हो तो आपके घर बुक कॅरियर

से बुक आ जाता है लेकिन जब आप डिजिटल बुक को चुनते  हो तो तुरंत आपके मोबाइल या कंप्यूटर पर डाउनलोड होता है  लेकिन इसके लिए अमेज़न का किंडल एप डाउनलोड करना होता है जंहा पर डाउनलोड किया हुआ  बुक स्टोर होगी।  यानि की आपका  डाउनलोड किया हुआ  बुक एक मोबाइल से दूसरे मोबाइल पर ट्रांसफर नहीं कर सकते हो और सिर्फ आप ही पढ़ सकते हो। सबसे फायदे वाली बात यह होती है की इसकी जो प्राइस होती है वो कम  होती है फिजिकल  बुक की तुलना में यह कम  प्राइस होती है और यह इसे तुरंत पढ़ सकते हो।

यह बात तो हो गयी एक पाठक के तौर  पर। क्या आप जानते हो अमेज़न kdp पर पैसे भी कमाया जा सकता है।  जी हाँ बिलकुल

सही पढ़ा आपने इससे पैसे भी कमाया जा सकता अगर आपको लिखने का सौक है तो आप बुक लिख कर पैसे कमा सकते हो

बुक किसी भी कैटेगेरी का हो सभी तरह के बुक को इसमें पब्लिश कर सकते। जब आपके बुक पब्लिश हो जायेंगे और यह बिकने

लगेंगे तो आपको रॉयल्टी 35 % से लेकर 70 % तक  मिलेगा। जो की बहुत बड़ी रकम हो सकती यह निर्भर करता है आपके लेखन

पर आप किस तरह के बुक को लिख रहें हो।

जिस तरह से लोगो का  रुझान ebook  की तरफ बढ़ रहा है उससे तो यह लगता है की लेखकों के लिए यह एक बहुत ही बड़िंया प्लेटफार्म  है

कयोंकि इसमें बुक को पब्लिश करने के लिए किसी भी तरह  की लाइसेंस की आवश्यकता नहीं  होती है। बस आपको अकाउंट बनाना पड़ता है और इसमें अपलोड कर दीजिये। और इंतिजार कीजिये बुक बिकने का जब आपके बुक बिक जायेंगे और 100 डॉलर हो जायेंगे  तो

आपको आपके अकाउंट पर पैसा मिल जाता है।

 

 

 

passive income(निष्क्रिय आमदनी ) क्या होता है ?

passive income(निष्क्रिय आमदनी) क्या होता है ? और कितने प्रकार के होते हैं 

इनकम मुख्य रूप से दो प्रकार की होती है (1) . active income शक्रिय आमदनी 

                                                                   (2 ) passive income  निष्क्रिय आमदनी 

(1 .) Active income  शक्रिय आमदनी : – शक्रिय आमदनी वह आमदनी कहलाता है जिसमे आप शक्रिय रहते हो मतलब आप काम करोगे तो

पैसा मिलेगा और यदि काम नहीं करते हो तो पैसा नहीं मिलेगा जैसे की नौकरी करना आप ऑफिस जाते हो तो आपका हाजरी बनता है  आप काम करते और

महीना में तन्ख्वा मिलता है तो इस तरह के आमदनी को शक्रिय आमदनी कहा जाता है।

(2 .) passive income निष्क्रिय आमदनी :- निष्क्रिय आमदनी वह होता है जिसमे आपको काम करने के लिए शक्रिये नहीं रहना  पड़ता है मतलब आपको काम करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है आप  रेगुलर काम  किये बिना भी पैसा कमा सकते हो जैसे  माकन  का किराया , बांड का लाभांश , जमीन  का रॉयलिटी , संगीत ,apps  ,वेबसाइट ,

इत्यादि से कमाया हुआ  रॉयल्टी  ,कमाया हुआ आमदनी निष्क्रिय आमदनी कहलाता है क्योंकि इसमें आपको रोजाना काम करने की आवश्यकता नहीं पड़ती है।  इसका मतलब

ये नहीं होता है काम नहीं करना है आपको काम करना है बस एक बार।  प्रोडक्ट अपने तैयार कर लिया और उसी से पैसा आते रहता है। आपके घर में टीवी  तो होगा ही

उसमे सुब्स्क्रिब्शन  के तौर  पर आपको हर महीने पैसे जमा करने पड़ते है ये टीवी चैनल  या कंपनी के लिए निष्क्रिय आमदनी  है  .

इसी प्रकार से आप इंटरनेट से भी निष्क्रिय आमदनी  कमा सकते हो , डिजिटल मार्केटर  के तौर  पर app ,वेबसाइट ,गेम , या यूट्यूब चैनल  के माध्यम  से  अगले आर्टिकल में

इन सभी के बारे में बहुत अच्छी तरह से विवरण  किया गया है जरूर पढ़िए।

शेयर ट्रेडिंग के लिए कैसे और कंहा से डीमेट खाता खोले ?

पिछले आर्टिकल में मैंने शेयर ट्रडिंग से इनकम करने के बारे में लिखा है ,यदि अपने नहीं पढ़ा है तो जरुर पढ़े पैसे कमाने के लिए

आपके पास डीमैट अकाउंट होना जरुरी है यदि नहीं है तो आप ट्रेडिंग नहीं कर सकते हैं ,जब आप शेयर खरीदते है तब

आपके डीमैट खाता में रहता और आप जब शेयर बेचते है तो आपके बेचे हुए शेयर का पैसा आपके डीमैट अकाउंट में रहता है

जबतक आप उसको अपने चालू खता (बैंक खाता ) में नहीं भेजते हैं। कहने का मतलब यह हुआ की शेयर लेन देन  का प्लेटफार्म  को

डीमैट खाता कहते हैं ,

डीमैट खाता को खोलने के लिए बहुत से ब्रोकरेज हाउस हैं उनसे संपर्क कर आप खाता  को खोल सकते हैं और यह बैंकिंग कंपनियों 

के पास भी डीमैट अकाउंट के लिए सिकियूरिटज होती है जैसे sbi capsecurites ,आईसीआईसीआई  सेक्यूरिटज ,एंजल ब्रोकिंग

ऐसे बहुत सरे कंपनियों के माधयम से डीमैट खाता खोला जा सकता हैं और आप ऑनलइन काम कर के पैसे काम सकते हो।

और सबसे अच्छी बात यह है की आप इसे ऑनलाइन भी खाता  खोल सकते हैं कंही जाने की जरुरत भी नहीं पड़ती हैं।

मै ट्रेडिंग के बारे में इस लिए लिख रहा हूँ क्योंकि यह एक ऑनलाइन प्रक्रिया है और मै ऑनलाइन इनकम के बारे में लिखता हूँ।

कुछ  समय पहले तक यह प्रक्रिया शायरों की खरीद बिक्री ऑफ़ लाइन हुआ  करती थी लेकिन इंटरनेट के आ जाने से सब कुछ आसान हो

गया है आप कभी भी खरीद कर रख सकते हो और बेच सकते हो और यह पूरी प्रक्रिया इंटरनेट के माद्यम से किया जाता है।

लेकिन इसके लिए एक सवाल यह है की क्या मोबाइल से ट्रेडिंग किया जा सकता है ,हाँ बिलकुल शेयर ट्रेडिंग मोबाइल के माधयम

से  भी ट्रेडिंग किया जा सकता है।

online money making के लिए शेयर ट्रेडिंग एक अच्छा ऑप्शन है।

हेलो दोस्तों जैसे की आप जानते हो मै  अपने ब्लॉग पर ऑनलाइन मनी मेकिंग से सम्बंधित ब्लॉग आर्टिकल पोस्ट करता हूँ

इंटेरनेट से पैसे कमाने के बहुत से रास्ते  हैं और मैंने अपने ब्लॉग पे लिखा भी है यदि अपने नहीं पढ़ा होगा तो कृपया पढ़ लीजिए।

शेयर ट्रेडिंग क्या होता है ?

कम शब्दों में समझा जाए तो ,यह शेयर मार्केट में शेयर को खरीदना और बेचना को शेयर ट्रेडिंग कहते हैं ,कंपनियों की शेयरों की खरीद बिक्री के जरिये पैसा कमाया जाता है। इसे शेयर ट्रेडिंग कहते हैं।

मुझे तो लगता है की बहुत से लोगो को तो शेयर मार्केट का नाम सुन के ही डरने लगते हैं क्योंकि शेयर मार्केट  में पैसा डूब जाता है और यह एक गेम है इसमें खेलने से हरने का ज्यादा चांस रहता है।  लेकिन मै कहता हूँ यह गेम  नहीं है यह भविष्य की संभावनाओं को देख कर इन्वेस्ट किया जाता है ,यदि आपके पास ज्ञान

है तो आप इससे बहुत पैसे कमा सकते हो। दुनिया में कोई सिख के नहीं आता  है  यहीं सीखना पड़ता है उसी तरह से शेयर मार्किट में काम

करने के लिए भी सीखना होगा तभी उस पर काम कर के पैसे कमा सकते हैं।  शेयर मार्केट  में कम करने के लिए बहुत सरे ऑप्शन रहता है

जैसे की  (1 )intraday  trading , (2 ) delivery  ऑप्शन  (3 ) शार्ट टर्म ट्रेडिंग , (4 )long टर्म  (5 ) कमोडिटीज  इत्यादि।

होते हैं। और ये सरे काम ऑनलाइन इंटरनेट के माध्यम से होता है।  यदि आपके पास कंप्यूटर  नहीं है तो मोबाइल से भी ट्रेडिंग किया जा

सकता है। आप जॉब करते हैं या जॉब नहीं करते हैं या बिज़नेस  करते हैं या नहीं करते हैं कोई फर्क नहीं पड़ता है।  कोई भी काम

कर सकता है।  इसके लिए  आपको डीमैट अकॉउंट की आवशकता पड़ेगी। डीमैट खोलने के लिए आपको किसी ब्रोकरेज हाउस  से संपर्क करना होगा।

शेयर मार्केट  विषय के अनुसार रिस्क होता है इसलिए इसमें निवेश करने के लिए अच्छी तरह से टर्म एंड कंडीशन को पड़ने के बाद ही निवेश 

शुरू करे।  

video क्रिएटर के लिए 2018 में Amazon tube आने वाला है।

नमस्कार दोस्तों  अगर आप वीडियो  क्रिएटर  हो तो खुश हो जाइए।  क्योंकि आपके आय बढ़ने वाले है जी हाँ अपने सही पढ़ा कयोंकि बहुत जल्द

अपना वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म शुरू करने वाला है। जैसे की आप जानते है या अगर नहीं जानते हैं तो मै  आपको बता दूँ की

अमेज़न की फायर टीवी प्रोडक्ट पर यूट्यूब वीडियो दिखाया जाता था। लेकिन गूगल ने  उसे बंद कर दिया है।  जिससे नाराज हो कर

अमेज़न ने यूट्यूब की तरह वीडियो शेयरिंग प्लेटफार्म लाने  का फैसला किया है  इसके लिए तीन नाम से डोमेन रजिस्टर किया गया है

AlexaOpenTube.com   , AmazonAlexaTube  , AmazonOpenTube.com . यह अस्पस्ट नहीं हो पाया है की किस नाम से शुरू होने वाला है

लेकिन यह तय है इसी साल शरू होने वाला है।

वीडियो क्रिएट (वीडियो बनाने वाले के लिए क्या फायदा है ?

वीडियो क्रिएटर  के  लिए यह बहुत ही अच्छा अवसर है क्योंकि  इसमें जिस तरह यूट्यूब में वीडियो क्रिएटर  के  लिए मॉनेटिज़शन का ऑप्शन  दिया हुआ है उसी तरह

ऑप्शन  दिया जायेगे जिससे वीडियो क्रिएटर अपने वीडियो पर ad (प्रचार) दिखा कर पैसे कमा सकते हैं।

न्यू यूट्यूब क्रिएटर के लिए monetization updates 2018

new   youtube  video क्रिएटर  के लिए 2018 में थोड़ा सा टफ  होने वाला है , क्योंकि यूट्यूब ने अपने ब्लॉग पोस्ट में monetiztion  से 

सम्बन्धित अपडेट लिखा है।  अप्रैल 2017 में यूट्यूब ने कहा था monetization  on  करने के लिए आपको 10000 लाइफ टाइम veiws   होना चाहिए

तभी आपका मॉनेटिज़शन  इनेबल किया जायेगा। और यह भी तुरंत इनेबल नहीं किया जायेगा बल्कि आपके चैनल को पूरा अच्छी तरह से।

देखा जायेगा कंही आप किसी तरह का  गलत वीडियो कंटेंट अपलोड तो नहीं कर  हो। यूट्यूब के टर्म एंड कंडीशन एवं कम्युनिटी गाइड लाइन्स  के  अंतर्गत होना चाहिए

तभी आपका मॉनेटिज़शन इनेबल किया जायेगा।

16 जनवरी 2018 को यूट्यूब की तरफ से कहा गया है की आपके चैनल पर 4000 घंटा वाच टाइम (यानिकि 4000 घंटा वीडियो देखा गया है ) होना चाहिए 

और 1000 सब्सक्राइबर होना चाहिए 12 महीने के अंदर में  तभी आपके चैनल पर मॉनेटिज़शन  इनेबल  किया  जायेगा  और इनेबल करने से पहले आपके चैनल

को बहुत अच्छी तरह से रिवियु किया  जायेगा।

मेरा  मानना है की इस तरह अपडेट होना जरुरी था क्योंकि यूट्यूब पर गलत तरह के कंटेंट अपलोड हो रहे थे  जिससे जो रियल वीडियो क्रिएटर हैं उसका नुकसान

हो रहा था।  और कंपनी का भी नुकसान हो रहा था।

यदि आप नए वीडियो क्रिएटर हो तो बिलकुल घबराने वाली बात नहीं है  अगर आप ओरिजिनल वीडियो बनाते हो तो आराम से 4000 घंटे का वाच टाइम प्राप्त कर

लोगे  और चैनल रिवियु करने के बाद इनेबल कर दिया  जायेगा।

Thunkable पर app कैसे बनाते हैं ?

thunkable  पर app बनाना बहुत आसान है इसके लिए ब्रौजर पर टाइप कीजिये www.thunkable.com या गूगल पर सर्च कीजिये

thunkable .com इसके बाद

STEP 1 >>  thunkable का पेज खुलेगा।  इस पर gmail से सींग इन कीजिये।

STEP 2 > Sing in करने के बाद न्यू  पेज ओपन होगा , न्यू  पेज पर दो तरह का ऑप्शन दिखाई  देगा  एक  IOS   और     andriod  यदि आपको कंप्यूटर के लिए app

बनाना है तो ios  पर क्लिक कीजिये  और यदि मोबाइल या टेबलेट के लिए बनाना है तो andriod  ऑप्शन पर क्लिक करना है।

 

STEP 3 >>  इस पेज में आपको ऊपर में लेफ्ट साइड पर create new  का ऑप्शन दिखाई  देगा। create  new  पर क्लिक कीजिए

step 4 >> आप अपने app का नाम जो भी देना चाहते हो app  का नाम देने के बाद ok  कर दीजिये , इसके बाद न्यू  app  खुल जायेगा

और यहाँ पर आप जैसे चाहे वैसा app  बना सकते।  लेफ्ट साइड में डैशबोर्ड दिया हुआ  रहगे डैशबोर्ड से आपको जो टूल चाहिए

उसको  ड्रैग एंड ड्राप ( मतलब टूल को खींच कर लाना है एप्प  के पेज पर उदहारण के लिए बटन बनाना है तो बटन को एप्प  के  पेज पर खींच कर लाना है।

 

STEP  5  >>यदि आपको किसी आर्टिकल को लिखना है तो उसके लिए लेआउट को ड्रैग एंड ड्राप कीजिये इसके बाद राइट साइड में सबसे निचे की तरहफ

text टाइप करने के लिए ऑप्शन दिया हुआ  रहता है वंहा पर टाइप कीजिये  इस तरह से आप किसी भी आर्टिकल को एप्प  में लिख सकते हो।

 

STEP 5 >> एप्प  को कैसे चेक करते है ? किस तरह एप्प  बना है

इसके लिए save  का ऑप्शन ऊपर में दिया हुआ  रहता है उस पर क्लिक कर  my computer  पर save कर लीजिये  इसके बादusb  केबल से मोबाइल

को कनेक्ट करके मोबाइल पर लोड कर चेक कर सकते हो आपका app  काम कर रह है या नहीं। जरुरी नहीं है की आपका app  कम्पलीट होगा तभी आप

चेक कर सकते हो एप्प  बनाने के द्वारं भी आप चेक कर सकते लाइव QR CODE  के जरिये।  इस तरह से आपका एप्प  बनकर तैयार हो जाता है।

 

 

 

नेक्स्ट आर्टिकल में वेबसाइट और ब्लॉग को app  में कैसे बदलते हैं  या  वेबसाइट के लिए app  कैसे बनते हैं इसके बारे में सीखेंगे  .

 

 

app को लोगो तक कैसे पंहुचाए ?

 app  को लोगो तक पंहुचाये ?

जब आप apps  बना लेते हो और उसे पब्लिश करना होता है तो काफी प्रॉब्लम होती है और आप खुदसे कितने

लोगो को apps दे सकते हो।  ब्लूथ और जेंडर के जरिए  आप ज्याद लोगो को अपनी बनायीं हुई  apps  को नहीं दे सकते ,क्योंकि आप उन्ही लोगो को

apps डिस्ट्रीब्यूट कर सकते हो जो आपके करीब है। जिसे आप नहीं जानते हो वैसे लोगो तक आपका apps  नहीं पंहुचता है।

वैसे स्तिथि में कुछ  लोग apps  को अपने गूगल ड्राइव अकाउंट पर रखते है और  अपने दोस्तों को लिंक शेयर करते है फेसबुक,व्हाट्स एप्प

के जरिये या किसीभी socail साइट के माधयम से करे।  यह भी एक आसान तरीका है अपनी apps  को लोगो तक पहुंचने के लिए।

यदि आपके पास ब्लॉग और वेबसाइट है तो उसमे भी आप अपनी गूगल ड्राइव का लिंक शेयर कर सकते हो।

फ्री में अपनी apps  को डिस्ट्रीब्यूट करने के लिए ये सबसे सरल तरीका है क्योंकि गूगल प्ले स्टोर पर  app  को पब्लिश करने के

लिए आपको एक बार डेवलपर चार्ज के तौर पर 25 डॉलर लिया जाता है।  25 डॉलर अमाउंट बहुत बड़ी नहीं है यह भारतीय मुद्रा में 1600

रुपया होता है लेकिन सबसे बड़ी समस्या  यह है की लोकल डेबिट कार्ड का एक्सेप्ट न होना।  यह कहने के लिए बहुत आसान है लेकिन जब आप इसे

google developer console  अकाउंट बना के पेमेंट करोगे तो आपका डेबिट कार्ड एक्सेप्ट नहीं होगा। और उसमे नेट बैंकिंग से पेमेंट

के लिए ऑप्शन भी नहीं रहता है। यदि आपके पास इंटरनेशनल डेबिट कार्ड है तो पेमेंट एक्सेप्ट हो सकता है और वो भी प्राइवेट बैंक का

इंटरनेशनल डेबिट कार्ड होना चाहिए। और मुझे लगता है आप अगर नये हो मतलब अपने अभी – अभी apps  बनाना सीखा है और

आप चाहते हो की आपका बनाया हुआ  apps  लोग उपयोग करे तो मैं आपको सलाह दूँगा की आप सोसाइल साइट ,फेसबुक, व्हॉट्स app

ट्विटर ,के जरिये  से app  को डिस्ट्रीब्यूट करे।

 

अगले  आर्टिकल में पढ़ेंगे google  developer console  पर आपका डेबिट कार्ड एक्सेप्ट नहीं हो रहा है तो उसको कैसे हल करेंगे ?